​​


टिकटों
लोगो  
stamplogo

11 स्मारक टिकटों पर ' Dasavatar '
पर आधारित जयदेव का GEETAGOVINDA जुलाई में जारी, २००९

संत कवि जयदेव द्वारा Geetagovinda 12 वीं सदी ईस्वी में संस्कृत में एक अनूठा काम है, और पिछले नौ सदियों से साहित्यिक और कलात्मक प्रेरणा का एक बड़ा स्रोत रहा है । यह आधुनिक भारतीय भाषाओं और कई विदेशी भाषाओं के रूप में अच्छी तरह का सबसे में अनुवाद किया गया है । जयदेव ने ' Dasavatar ' को लोकप्रिय बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जो कि टिकटों की विषयवस्तु है.

​​